जितिन के भाजपा में शामिल होने से राजस्थान में शुरू हुई बयानबाजी

The Fact India: भाजपा ने जितिन प्रसाद को छीन कांग्रेस को बड़ी चोट दे दी है. और अपने खेमे में मिलाकर मिशन 2022 की अपनी राह आसान कर ली है. ये राहुल और प्रियंका गाँधी के लिए भी एक बड़ा झटका है. इस पर अब कांग्रेस और भाजपा में जमकर बयानबाजी शुरू हो गई है.

Jitin Prasad join BJP: सिंधिया के बाद कांग्रेस के दिग्गज नेता जितिन प्रसाद ने थामा भाजपा का दामन

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी अपनी बात रखी है. प्रताप सिंह ने कहा जितिन प्रसाद कौन है उन्होंने केवल नाम ही सुना है कभी मुलाकात नहीं की. यह अवसरवादी नेतागिरी है संकट के समय यह सब नहीं होना चाहिए. सचिन पायलट के बयान को लेकर प्रताप सिंह बोले यह हमारा परिवारिक मसला है हम आपस में इसे सॉल्व करेंगे.

जोधपुर में 6वीं क्लास की छात्रा से शिक्षक ने किया रेप, गर्भवती होने पर सामने आया मामला

मुख्य सचेतक और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेहद विश्वस्त कहे जाने वाले नेता महेश जोशी ने जतिन प्रसाद पर कटाक्ष करते हुए कहा इससे पहले भी ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में गए थे वहां उन्हें कोई नहीं पूछ रहा है. यही हालत जतिन प्रसाद की भी होगी. राजस्थान में सरकार को कोई खतरा नहीं है. नेताओं की इस बयान बाजी के बीच निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा का ट्वीट भी चर्चाओं में है. संयम लोढ़ा ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि कोविड के बाद जितिन प्रसाद काफी कमजोर हो गए हैं.