किसान ट्रैक्टर परेड को लेकर सुरक्षा एजेंसियां हाई अलर्ट पर, बिजली घरों की बढ़ाई गई सुरक्षा

Security system

The Fact India: किसान आंदोलन को देखते हुए पूरे दिल्ली शहर के बिजलीघरों की भी सुरक्षा व्यवस्था (Security system) बढ़ा दी गई है। खुफिया सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार बिजलीघरों को निशाना बनाए जाने की आशंका है। जबकि सूत्रों ने इस बारे में प्रतिबंधित अलगाववादी समूह सिख फॉर जस्टिस के एक वीडियो का हवाला भी दिया है। दिल्ली पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियां भी हाई अलर्ट पर है। बीते साल केंद्र ने आतंकवाद विरोधी कानून एक्ट के तहत संगठन पर प्रतिबंध को बरकरार रखा था।

50 सालों में पहली बार नहीं होगा कोई चीफ गेस्ट, जानिए कार्यक्रमों की रुपरेखा

ऐसे में रविवार को इस बारे में दिल्ली पुलिस की तरफ से चेतावनी भी दी गई थी। इस बारे में विशेष पुलिस आयुक्त (खुफिया) दीपेंद्र पाठक ने कहा था, ’13 से 18 जनवरी के दौरान पाकिस्तान से 300 से अधिक ट्विटर हैंडल बनाए गए हैं। जो लोगों को किसानों की ट्रैक्‍टर रैली के लिए भ्रमित करने का काम करते हैं।

BAAR के पूर्व सीईओ का दावा, चैट लीक मामले में फिर से अर्नब गोस्वामी पर लटक रही है गिरफ्तारी की तलवार

खुफिया एजेंसियों और दिल्ली पुलिस को जब से ये सूचना मिली है तब से अधिक अलर्ट हैं। बताया जा रहा है कि डिस्कॉम, पावर ग्रिड और पावर सब-स्टेशन को निशाना बनाया जा सकता है। पुलिस का कहना है कि ऐसा करने के लिए नौजवानों को भड़काया जा रहा है। खुफिया एजेंसिंयों की सिख फॉर जस्टिस संगठन पर नजर है।