कोरोना की विषम परिस्थिति के बीच समाजसेवी विकास सिरोही ने ऑडियो संदेश जारी कर आमजन से की ये बड़ी अपील

The Fact India: देश अभी घातक कोरोना महामारी से गुजर रहा है. इस संकट काल के बीच समाज सेवी विकास सिरोही ने आम लोगों से बड़ी संख्या में एक दूसरे कि मदद (Corona-Help) के लिए आगे आने की अपील की है. इसके लिए उन्होंने अपना एक ऑडियो सन्देश भी जारी किया है.

यहां सुने ऑडियो संदेश

विकास सिरोही ने अपने ऑडियो सन्देश में कहा कि राम राम दोस्तों मैं आपका दोस्त विकास सिरोही… कुछ कहना चाहता हूं दोस्तों समय काल कोई भी हो… सतयुग, त्रेता, द्वापर तथा कलियुग हो… हर युग में देवता थे और उनको परेशान करने वाले… लूटने वाले लोग भी थे. अब हो सकता है कि मानवीय संवेदना और लूटने वाले लोग ज्यादा है फिर भी बहुत से अच्छे लोग भी चारो ओर बिखरे हुए हैं.

आज इस करोना काल की विकट परिस्थितियों में जहां बड़े स्तर पर लोगों को मदद की जरूरत है.. बहुत से लोग दवाइयों में ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी कर रहे हैं. दोस्तों इस वक्त दानव प्रवती वाले लोग अपना काम करेंगे और हमें जहां तक संभव हो हमें लोगों की तन, मन और धन से मदद करनी है. कम संसाधन में भी दूसरों की कैसे मदद हो सकती है. हमें यह सोचना है. हर व्यक्ति यथासंभव मदद (Corona-Help) करें कम हो या ज्यादा कुछ नहीं होता है. उन्होंने लोगों से अपील की है कि सब अपना 100% दें. सब की क्षमता अलग हो सकती है. लेकिन मदद करने की भावना भरपूर होनी चाहिए.

कोरोना तांडव के कारण चारधाम की यात्रा रद्द, मुख्यमंत्री ने दिए आदेश

उन्होंने बताया कि राम सेतु बनाने के लिए एक गिलहरी भी अपने शरीर पर मिट्टी लपेटकर राम सेतु बनाने में मदद कर रही थी दोस्तों डर के आगे जीत है इस बीमारी से सब को डर लग रहा है फिर भी देता तो ले डॉक्टर अपनी और नर्सिंग स्टाफ अपनी जान की चिंता किए बगैर जुटे हुए हैं. ऐसी विषम परिस्तिथि में आम लोगों ने आज कितने ही पीड़ितों के लिए मदद (Corona-Help) का हाथ आगे बढ़ाया है.

समाजसेवी सिरोही ने कहा कि यह संयम का समय है किसी भी तरह की राजनीति का समय नहीं है यह समय है बीमारी से लड़ने का और उस को हराने का इस बीमारी को आप अपने मूवी का विलेन माने. इस करोना नाम के विलन को आपको खुद को ही हराना है. आप जीतेंगे कोरोना हारेगा. हर्ष के दिन को पाने के लिए दुख के रातों से गुजरना होता है. तपती गर्मी के बाद बारिश का पानी बरसता है अभी गर्मी का मौसम है इसे बर्दाश्त करना पड़ेगा इस से लड़ना होगा फिर खुशियों की बरसात करता सावन हम सबका होगा… राम राम सा.. खुश रहें स्वस्थ रहें.