सोनिया गांधी 2024 तक बनी रहेंगी कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष

Sonia Gandhi
Sonia Gandhi

The Fact India: लंबे अर्से से कांग्रेस के भीतर नेतृत्व परिवर्तन की मांग हो रही है, मगर पार्टी इसके चुनाव को लगातार टालती आ रही है. फिलहाल, 2024 के लोकसभा चुनाव तक कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर कोई बदलाव होता नहीं दिख रहा है. हालांकि पार्टी में बागवती तेवर अपनाने वाले नेताओं को संगठन में अहम जिम्मेदारी दी जा सकती है. सूत्रों की मानें तो 2024 के लोकसभा चुनाव तक सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ही कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी. साथ ही ऐसी संभावना है कि देश की सबसे पुरानी पार्टी युवा चेहरों को संगठन में प्रमुख पदों पर नियुक्त कर सकती है.

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से कोई नहीं मरा- केंद्र सरकार

 शीर्ष स्तर पर निर्णय लेते रहेंगे राहुल

जानकारी के मुताबिक अगले लोकसभा चुनाव तक सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ही कांग्रेस की अध्यक्ष पद पर रहेंगी. सूत्रों के मुताबिक मालूम चला कि राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में नियुक्त होने की संभावना नहीं है, हालांकि, शीर्ष स्तर पर निर्णय लेना वह जारी रखेंगे. आगामी 2024 के आम चुनावों को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस पार्टी एक बड़े फेरबदल की योजना बना रही है, जिसमें युवा कांग्रेस नेताओं और गांधी के वफादारों को पार्टी संगठन के भीतर महत्वपूर्ण भूमिका मिल सकती है.

बागियों का रखा जाएगा पूरा ख्याल

सूत्रों की मानें तो पार्टी से चार कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति की उम्मीद है, जो महत्वपूर्ण निर्णय लेने में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और राहुल गांधी की सहायता करेंगे. कांग्रेस में कार्यकारी अध्यक्ष पद के लिए गुलाम नबी आजाद, सचिन पायलट, कुमारी शैलजा, मुकुल वासनिक और रमेश चेन्नीथला सबसे आगे चल रहे हैं. यहां यह जानना जरूरी है कि गुलाम नबी आजाद उस जी-23 समूह के नेता हैं, जिसने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर संगठन में बदलाव की मांग की थी, वहीं सचिन पायलट भी एक वक्त पर अपना बगावती तेवर दिखा चुके हैं.