खाली पेट ना खाएं स्प्राउट्स, सेहत के लिए हो सकता है हानिकारक

The Fact India: स्प्राउट्स (Sprouts) सेहत के लिए वैसे तो काफी अच्छे माने जाते है, इन्हें खाने से पाचन को बेहतर बनाने के साथ ही ब्लड शुगर लेवल में सुधार करने और हार्ट डिजीज से बचाने में भी मदद मिलती है. लेकिन अगर इन्हें गलत समय पर खाया जाए तो ये बीमार भी कर सकते है. दरअसल कच्चे स्प्राउट्स में बैक्ट्रीरिया मौजूद होते है जिसके कारण खाली पेट खाने पर ये फूड पॉइजनिंग की समस्या पैदा कर सकते है. व्यस्कों में तो फिर भी ये लक्षण ज्यादा नजर नहीं आते लेकिन बच्चों, बुजुर्गों  गर्भवती महिलाओं में ये गंभीर समस्या पैदा कर सकते है.  

कच्चे स्प्राउट्स का सेवन कैसे करे

कई ऐसे लोग हैं जो बिना किसी समस्या के कच्चे स्प्राउट्स (Sprouts) खा सकते हैं और उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होती. लेकिन, आपकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आप स्प्राउट्स को एक पैन में थोड़ा तेल डालें और बैक्टीरिया मारने के लिए थोड़ी देर के लिए हिलाएं या फिर नमक के पानी में 5-10 मिनट तक उबालें. स्प्राउट्स को इस तरह पका कर खाने से आपके पाचन तंत्र को लाभ होगा और आपका पाचन तंत्र पोषक तत्वों के अवशोषण के लिए और भी बेहतर होगा. यदि आपका इम्‍यून सिस्‍टम हेल्‍दी है और कच्चे स्प्राउट्स के सेवन से आपको कभी कोई समस्या नहीं हुई है, तो आप इसे कच्चे खा सकते हैं. लेकिन, यदि आप अपने पेट को लेकर अक्‍सर परेशान रहते हैं, तो अच्‍छा होगा कि इसे थोड़ा पकाकर ही खाएं.

कच्चे स्प्राउट्स को अंकुरित कैसे करे

हम ज्यादातर बीजों को अंकुरित कर उपयोग में लेते है जैसे- काबुली चने, सोया, साबूत मूंग, मौठ या लोबिया बीन्स, इन में से जो दाने आपको अंकुरित करने हो उन्हे साफ करके पानी में 2 बार धोइये और पानी में डूबा कर रात भर या 10 -12 घंटे के लिये भीगने दीजिये. (दोनों को अंकुरित करने के लिए हमेशा पीने वाले पानी का ही उपयोग करे) दोनों को पानी से निकालिये, चलनी में ढक्कर या मोटे सूती कपड़े में लपेट कर किसी गरम जगह पर कमरे के अन्दर रख दीजिये. 24-34 घंटे में ये अंकुरित हो जाते हैं.

दूसरे दिन आप देख सकते है कि इन दानों को  सफेद कलर के धागे जैसे निकल आएंगे. यदि ये अंकुर 1-2 मिमी के हो गये. तब वे दाने खाने के लिए तैयार है.

44 Views