MP में सत्ता परिवर्तन की सुगबुगाहट तेज, खतरे में बिकाऊ MLAs की सदस्यता!

Shivraj Government

The Fact India: मध्य प्रदेश में एक बार फिर सत्ता (Shivraj Government) परिवर्तन की सुगबुगुहाट तेज होती नजर आ रही है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता की ओर दाखिल याचिका पर सुनवाई करने का फैसला लिया है। कांग्रेस नेता जया ठाकुर ने याचिका में कहा गया है कि सरकार को गिराने के मकसद से इस्तीफा देने की प्रथा से दलबदल को बढ़ावा मिलता है। इस पर रोक लगनी चाहिए विधायकों के इस्तीफा देने के बाद होने वाले चुनाव से सरकारी खजाने पर बोझ बढ़ता है। ऐसे में विधायकों के निजी हितों के चलते खजाने को नुकसान और जनभावना को ठेस पहुंचती है।

बिहार में अब तक मंत्रीमंडल विस्तार नहीं होने पर उठे सवाल तो CM नीतीश ने बीजेपी पर लगाए ये आरोप

आपको बता दें कि इसकी जानकारी मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर दी है। ट्वीटर में लिखा है- बिकाऊ विधायकों की सदस्यता खतरे में…सुप्रीम कोर्ट में अयोग्य ठहराने की याचिका स्वीकार…सरकार गिराने के मकसद से इस्तीफा देने वाले विधायकों पर छह साल तक चुनाव लड़ने और कोई भी पद पर पाबंदी की याचिका पर सुनवाई होगी..शिवराज जी, न्यायपालिका अभी जिंदा है…

मध्य प्रदेश कांग्रेस की ओर से दायर याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार कर ली है और सीजेआई की खंडपीठ ने इस याचिका पर चुनाव आयोग और केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने चार हफ्ते में जवाब भी मांगा है।

कोराना वैक्सीन को लेकर चौंकाने वाली खबर! ट्रायल डोज लेने वाले वॉलंटियर की 9 दिन बाद हुई मौत

मालूम हो कि मार्च 2020 में दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में दामन थामा था। इतना ही नहीं उनके 22 समर्थक विधायकों ने भी पार्टी से अपना इस्तीफा दिया। जिसके कुछ दिनों बाद 15 साल बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस की सरकार गिर गई और मुख्यमंत्री कमलनाथ को इस्तीफा देना पड़ गया था, बाद में 28 सीटों पर उपचुनाव हुए। जिसमें बीजेपी ने बड़ी जीत हासिल करके सत्ता में वापसी की। अब प्रदेश मे बीजेपी की सरकार है लेकिन सुप्रीम कोर्ट में दलबदल याचिका स्वीकार होने पर सूबे की सियासत में एक बार फिर सियासी उलफेर की आशंका जताई जा रही है।

दूसरी ओर प्रदेश में होने वाले निकाय चुनाव को लेकर बीजेपी ने अपना प्लान तैयार कर लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अब मैदान में उतरने जा रहे है। मुख्यमंत्री शिवराज 13 जनवरी से सभी 16 नगर निगम के दौरे पर रहेंगे।वहीं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा इस दौरान उनके साथ रहेंगे। बता दें कि हाल ही में निकाय चुनाव को स्थगित कर दिया गया था लेकिन चुनाव स्थगित करने के बाद बीजेपी अब अपना प्लान कर रही है।

ट्वीटर ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का अकाउंट हमेशा के लिए किया बंद

दरअसल उपचुनाव में 19 सीटों पर जीत हासिल करने के बाद बीजेपी (Shivraj Government) की नजर अब नगर निकाय चुनाव में जीत दर्ज कराने में लगी हुई है जिसके लिए सभी 16 नगर निगम में जाकर सीएम जमीनी स्तर पर लोगों से चर्चा करेंगे। बहरहाल एक तरफ कांग्रेस की ओर से दायर याचिका सुप्रीम कोर्ट में स्वीकार किए जाने के बाद सियासी उलफेर के कयास लगाए जा रहे हैं वहीं सीएम शिवराज अपना नया प्लान लेकर मैदान में उतरने जा रहे हैं इस सियासी गहमागहमी के चलते सूबे की सियासत में कई सवाल उठ रहे हैं।