जोधपुर में चीन के कोरोना वायरस का कोहराम, डेढ़ हजार करोड़ का कारोबार ठप्प

The Fact India: चीन में फैले कोरोना वायरस ने राजस्थान को जोधपुर में कोहराम मचा दिया है. जोधपुर के परंपरागत व्यवसाय के हालात इस कदर खराब है कि हैंडीक्राफ्ट उद्योग (Handicraft industry) पूरा ठप्प पड़ा हुआ है. कोरोना वायरस के कारण जोधपुर में करीब 2.5 लाख मजदुरों पर बेरोजगारी के बादल मंडराने लगे हैं.

जोधपुर में डेढ़ हजार करोड़ का कारोबार ठप

कोरोना के कहर के कारण जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट उद्योग (Handicraft industry) की रफ़्तार मंदी पड़ गई है. जोधपुर हैंडीक्राफ्ट व्यापारियों के मुताबिक मार्च और अप्रेल तक कोरोना वायरस पर लगाम नहीं लगी तो हैंडीक्राफ्ट उद्योग का एक्सपोर्ट 50 फीसदी तक कम हो जाएगा. इससे अकेले जोधपुर में डेढ़ हजार करोड़ रुपयों का कारोबार ठप हो जाएगा.

हैंडीक्राफ्ट व्यवसाय का गढ़ है जोधपुर

जोधपुर से विश्वभर में सालाना करीब ढाई हजार करोड़ रुपए का हैंडीक्राफ्ट का सामान एक्सपोर्ट होता है. लेकिन कोरोना वायरस की धमक के कारण गत एक महीने में ही हैंडीक्राफ्ट (Handicraft industry) आइटम बनाने के काम में आने वाला सामान 20 फीसदी तक महंगा हो चुका है. इसका अधिकतर सामान चीन से आता है. इनमें पॉलिस, कीलें और स्क्रू सहित कई आइटम शामिल हैं. लिहाजा अभी से हैंडीक्राफ्ट व्यवसाइयों के व्यापार पर इसका असर दिखने लग गया है.

बंद होने की कगार पर हैंडीक्राफ्ट उद्योग
जोधपुर में प्रमुख स्थान रखने वाले हैंडीक्राफ्ट उद्योग (Handicraft industry) पर कोरोना वायरस का भारी असर होने से इस व्यापार से जुड़े व्यापारी चिंतित हैं. जोधपुर में इसके अलावा पैकिंग मैटेरियल, फर्नीचर, आयरन और कांच उद्योग सहित अन्य उद्योगों पर भी कोरोना वायरस का असर पड़ सकता है. कोरोना वायरस का कहर नहीं थमा तो अकेले जोधपुर में करीब 2.5 लाख मजदूरों के बेरोजगार होने के साथ ही सैंकड़ों हैंडीक्राफ्ट उद्योग भी बंद होने के कगार पर पहुंच जाएंगे. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.