देश में मई में आएगा कोरोना का पीक, राजस्थान का ये रहेगा हाल

The Fact India: देश में कोरोना की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है. यह पहली लहार से भी घातक साबित हो रहा है. कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों बीच हर किसी के जगह में सवाल उठ रहा है कि आखिर कोरोना की पीक कब आएगी. अब एक रिपोर्ट (Report) में दावा किया गया है कि कोरोना की पीक 11 से 15 मई के बीच आएगी.

वैज्ञानिकों ने मैथेमेटिकल मॉडल (Report) के जरिए कोरोना संक्रमण के बढ़ते केस पर जो अध्‍ययन किया है, उसके अनुसार 15 मई के आसपास कोरोना के एक्टिव केस 33 से 35 लाख के करीब पहुंच जाएंगे. अगर मौजूदा ट्रेंड पर नजर डाले तो पहले ववे के मुकाबले इस बार 3 गुना से ज्यादा एक्टिव मामले आएंगे.

सीएम गहलोत ने मोदी सरकार से मांगी 18 से ऊपर वालों के लिए मुफ्त वैक्सीनेशन

इस स्टडी के मुताबिक दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और तेलंगाना में 25-30 अप्रैल के दौरान नए मामलों की संख्‍या चरम पर होगी. इसी तरह 1 से 5 मई के बीच ओडिशा, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल जबकि 6-10 मई के दौरान तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में कोरोना पीक पर होगा. महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में कोरोना पहले ही अपने चरम पर है. इसी तरह बिहार में कोरोना 25 अप्रैल के आसपास अपने चरम पर होगा.

वैज्ञानिकों ने बताया कि कोरोना की रफ्तार पर हमारी नजर बनी हुई है. कोरोना का संक्रमण हर दिन बढ़ता जा रहा है. 1-5 मई के दौरान प्रति दिन लगभग 3.3 से 3.5 लाख नए कोरोना संक्रमित दिखाई देंगे जबकि 11-15 मई के बीच यह 33-35 लाख के करीब एक्टिव केस के साथ कोरोना चरम पर होगा.