आठवीं पास ठग ने राजनेताओं और अधिकारियों की मिमिक्री कर व्यापारियों से ठगे करोड़ों

The Fact India: राजस्थान में महज आठवीं पास ठग ने व्यापारियों से करोड़ों रुपए ठग लिए. मिमिक्री में मास्टर ठग ने राजनेताओं और अधिकारियों की आवाज निकाली और व्यापारियों को निशाना बनाया. जयपुर पुलिस ने ठग को (Thugs) ब्यावर से गिरफ्तार किया है. आरोपी ठग मजिस्ट्रेट, पुलिस अधिकारी तो कभी राजनेता की हूबहू आवाजें निकालकर लोगों से 10 से 35 लाख रुपए एक बार में ठग लेता है. आरोपी अब तक 100 से ज्यादा लोगों को ठग चुका है. माणक पुलिस ने उसे 5 दिन की रिमांड पर लिया है.

माणक चौक इंचार्ज की मिमिक्री कर व्यापारी से रुपए ठगे

आरोपी का भांडाफोड़ तब हुआ जब उसने 7 सितंबर को सर्राफा ट्रेडर्स कमेटी के जयपुर अध्यक्ष व ज्वैलर्स कैलाश मित्तल के नंबर पर माणक चौक इंचार्ज सुरेंद्र यादव के नाम से फोन किया. आरोपी ने सुरेंद्र यादव की आवाज निकाल ज्वैलर्स से बहुत जरुरी काम बताकर 3.50 लाख रुपए मांगे.  पहले तो कैलाश भी रुपए मांगने की बात सुनकर सोच में पड़ गए. फिर उन्होंने रुपए भेज दिए. कुछ दिनों के बाद उन्होंने थानाधिकारी से बात की तो पूरा मामला सामने आया. पुलिस ने मोबाइल नंबर की डिटेल लेकर आरोपी की लोकेशन निकाली. उसे अजमेर के ब्यावर से गिरफ्तार कर लिया.

पेपर 35 लाख में परीक्षा सेंटर से आउट, एक युवती सहित 8 लोग गिरफ्तार

अब तक ठग चुका है करोडों रुपए

पुलिस की पूछताछ में सुरेश ने ठगी के कई खुलासे किए. आरोपी (Thugs) केवल 8वीं तक पढ़ा है लेकिन अंग्रेजी में लोगों से बात कर झांसे में ले लेता है. पहले भी आरोपी ने बांसवाड़ा में मिमिक्री कर एक बिजनेसमैन से 35 लाख रुपए ठगे थे. बिजनेसमैन की शिकायत पर पुलिस ने सुरेश को गिरफ्तार किया था. 13 महीने तक वो जेल में रहा था. 15 दिन पहले ही जमानत पर छूट कर आया था. जेल सले बाहर आने के बाद रुपयों की जरुरत पड़ी तो जयपुर के व्यापारियों को ठगने की योजना बना डाली. ठग के खिलाफ राजस्थान में 60 से अधिक मामले दर्ज हो चुके है. पुलिस की एक टीम पाली व जोधपुर में उसके घर जाकर सर्च करेगी.