सिद्धू मुसेवाला के दो आरोपियों का एनकाउंटर, घंटों चला गोलीबारी का सिलसिला

The Fact India : मशहूर पंजाबी सिंगर सिधु मुसेवाला (Sidhu Moosewala) की हत्या के मुख्य आरोपीयों की तलाश में पंजाब पुलिस लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही थी. आज यानि बुधवार 20 जुलाई की सुबह पुलिस को टिप मिली जिसमें मुसेवाला की हत्या के दोनों मुख्य आरोपी के अमृतसर के एक गाँव में छिपे होने की सुचना मिली. पंजाब पुलिस जब वहाँ पहुंची तो उन पर फायरिंग की गयी. पिछले 6 घंटे से लगातार जारी इस फायरिंग में एक आरोपी जगरूप सिंह रूपा के एनकाउंटर की भी सुचना है.

सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के आरोप में जिन दो गैंगस्टर जगरूप सिंह रूपा और मनु की पुलिस को तलाश थी… अमृतसर के होशियार नगर में पुलिस और गैंगस्टर के बीच चल रही थी… अटारी बॉर्डर के पास वाले इस इलाके में मौजूद एक हवेली में इन लोगों की तरफ से लगातार पुलिस पर गोलियां बरसाई गई. पुलिस की कई गाड़ियां भी भारत-पाक सीमा की तरफ से एनकाउंटर टीम के बैकअप के लिए पहुंचीl ये खबर है कि किसी सुनसान इलाके में बनी पुरानी हवेली में बड़े गैंगस्टर छुपे बैठे हैंl फिलहाल दो शूटर के मारे जाने की खबर है जिसमें एक का नाम जगरूप सिंह रूपा बताया गया है.

ये इलाका पाकिस्तान से मात्र 6 से 10 किमी की दूरी पर बताया जा रहा है, जिस तरह इतने घंटों से लगातार गोलीबारी हो रही है उससे ये अनुमान भी लगाया जा रहा है कि उनके पास हथियारों का बड़ा ज़खीरा है और अत्याधुनिक हथियार होने की संभावनाएं हैं.

पुलिस को मिली टिप में पहले जगरूप रूपा, मनप्रीत मन्नू के छिपे होने की ही खबर थी, लेकीन गोलियां जिस तरह से लगातार पुलिस पर बरसाई जा रही है उससे 2 ही लोगों के होने की उम्मीद कम नज़र आ रही थी. ये जगरूप सिंह रूपा और मनप्रीत मन्नू, गोल्डी बराड़ गैंग के शूटर हैं, मुसेवाला की हत्या में इन दोनों ने भी गोलियां चलाई थी. जिस तरह से लगातार 6 घंटे वो पुलिस पर फायरिंग कर रहे हैं उससे अभी भी उनके पास अधिक हथियार और असला होने कि उम्मीद जताई जा रही है. हथियारों कि पाकिस्तानी तस्करी से भी संपर्क होने कि सम्भावना भी मानी जा रही है. अत्याधुनिक हथियार भी उनके पास हैं जैसे AK47 से भी लगातार पुलिस पर गोलीबारी हुई थी.

Sun Transit : सूर्य के कर्क में प्रवेश से होगी बड़ी दुर्घटनाएं

इस गोलीबारी में अभी तक दो स्थानीय लोगों के घायल होने कि भी खबर आ रही है, इसके साथ ही एक निजी चैनल के कैमरामैन के घुटने में गोली लगने की सुचना भी सामने आई है.

जहाँ एनकाउंटर हुए हैं वो एक रिहायशी इलाका, जिसमें पुलिस के सामने ये चुनौती थी सिविलियनस को भी बचाना और आरोपियों को भी पकड़ना. 6 घंटे कि लम्बी फायरिंग के बाद इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया.

पुलिस को प्रथम जांच में एक बैग मिला है जिसकी जांच अभी होनी बाकी है. जांच के लिए फोरेंसिक अधिकारिओं को बुलवा लिया गया है. प्रथम दृष्टया हत्याओं में एक AK 47 और एक पिस्टल मिली है.

स्थानीय DGP पंजाब ने इसे पुलिस की बड़ी जीत बताया और ये भी कहा की 3 पुलिस कर्मियों को हल्की चोटें आईं हैं, वो तीनों ही कर्मी खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं.

पाकिस्तान से सम्पर्क होने की आशंका, पर जांच के बाद ही पुष्टि की बात कही DGP ने. पंजाब AGTF की बड़ी कामयाबी.

139 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.