उद्धव ठाकरे सरकार ने मुस्लिमों को 5 फीसदी आरक्षण देने का किया फैसला

The Fact India: महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार (Uddhav Thackeray) ने बड़ा फैसला लेते हुए प्रदेश के सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में मुस्लिमों को पांच फीसदी आरक्षण देने का फैसला किया है। बता दें, सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में मुस्लिमों को 5 फीसदी आरक्षण का प्रस्ताव सबसे पहले 2014 में कांग्रेस और एनसीपी की सरकार के समय आया था। तब मराठा के लिए 16 और मुसलमानों के लिए 5 फीसदी आरक्षण का प्रावधान ऑर्डिनेंस लाकर किया गया था।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पूर्वी क्षेत्रीय परिषद की बैठक में नहीं लिया भाग

बता दें कि बीजेपी ने विधानसभा में इस पर आपत्ति लेते हुए मुख्यमंत्री ठाकरे का रुख जनाना चाहा क्योंकि शिवसेना हमेशा से मुस्लिमों को दिए जाने वाले आरक्षण के खिलाफ है। बता दें, महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद शिवसेना ने कांग्रेस और राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। तब तीन दलों ने मिलकर न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाया था, जिसमें मुस्लिमों को आरक्षण देने की बात कही गई थी। हाल ही में इस बारे में उद्धव कैबिनेट में चर्चा भी हुई थी।

दिल्ली मेट्रो में ‘गोली मारो गद्दारों को’ लगे नारे, 6 पुलिस हिरासत में

महाराष्ट्र में जारी विधानसभा सत्र के बीच गठबंधन सरकार में एनसीपी के कोटे से मंत्री नवाब मलिक ने यह जानकारी दी। नवाब मलिक ने बताया कि अभी सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में मुस्लिमों को 5 फीसदी आरक्षण दिया गया है और प्रायवेट स्कूलों तथा प्रायवेट नौकरियों में भी मुस्लिमों को यह आरक्षण देने पर विचार किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.