विश्वेन्द्र सिंह का रीट्वीट- समझौते के रिश्ते में मिठास पहले जैसी कभी नहीं आती

The Fact India: राजस्थान की सियासत में पिछले साल हुए सियासी संकट को शायद ही कोई भूल पाया होगा. हालांकि अब अशोक गहलोत गुट और सचिन पायलट खेमे इ रिश्तों पर जमी बर्फ पिघलनी शुरू हो गई है. सोमवार को ही मुख्य सचेतक महेश जोशी ने सचिन पायलट समेत 19 विधायकों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चल रहे मामले में एसएलपी दायर करने की कवायद शुरू की है.

एसएलपी को वापस लेने की कवायद को दोनों गुटों के बीच सुलह के रूप में देखा जा रहा है. पिछले दिनों कई ऐसी तस्वीरें भी सामने आई जिससे दोनों खेमों के बीच दूरियां कम होती नजर आ रही है. लेकिन इसी बीच सचिन पायलट के बेहद करीबी और पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के एक ट्वीट के रीट्वीट (Vishvendra’s retweet) ने खलबली मचा दी है.

बजट से पहले लाखों बेरोजगारों को सीएम गहलोत का बड़ा तोहफा, इन पदों पर अप्लाई

दोनों गुटों के दूरियों के कम होने के कयासों के बीच विश्वेन्द्र सिंह का एक ट्वीट बेहद सुर्खियां बटोर रहा है. विश्वेन्द्र सिंह ने एक ट्वीट को रीट्वीट (Vishvendra’s retweet) किया है. जिसमे साफ संकेत दिया गया है कि सुलह के बाद स्थितियां पहले जैसी नहीं रहती है. ट्वीट में लिखा है कि दोबारा गर्म की हुई चाय और समझौता किया हुआ रिश्ता, दोनों में पहले जैसी मिठास कभी नही आती.

गौरतलब है कि सियासी संकट के दौरान दोनों के बीच जमकर वार पलटवार का दौर चला था. भले ही प्रदेश प्रभारी अजय माकन की ओर से दोनों गुटों में समझौता कराया जा रहा हो. लेकिन अब भी दोनों गुटों के बीच पहले जैसी मिठास दिखाई नहीं देती है.