विश्वेन्द्र सिंह ने फिर इशारों में विरोधियों पर साधा निशाना कहा-काल बनके दुश्मन का मैं, सबसे आगे खड़ा रहूंगा

The Fact India: सचिन पायलट कैम्प के विधायक और पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के एक ट्वीट ने एक बार फिर सियासी गलियारों में हलचलें तेज कर दी है. इस बार विश्वेन्द्र सिंह ने विरोधियों पर निशाना साधने के लिए कविता की पंक्तियों का सहारा (VishwendraTweet) लिया है. साथ ही यह भी साफ़ कर दिया है कि हालात कितने भी विपरीत हो वो पायलट के साथ ही खड़े रहेंगे.

विश्वेन्द्र सिंह की कविता-
हर संभव कोशिश करूंगा
पर्वत सा मैं अड़ा रहूंगा।।
काल बनके दुश्मन का मैं
उसकी छाती पे चढ़ा रहूंगा
ये सूरजमल का वचन है बंधु
स्वाभिमान की इस लड़ाई में
सबसे आगे खड़ा रहूंगा,
सबसे आगे खड़ा रहूंगा

वसुंधरा ने कहा- भाजपा में कोई छोटा-बड़ा नहीं होता, किसी पद का वो मोहताज नहीं

ना मैं उनके जैसे बिका हुआ हूँ
ना सत्ता के लोभ में झुका हुआ हूँ
अवाम मेरा अभिमान हैं
ज़िन्दा मेरा स्वाभिमान हैं
ज़ुबा से निकले हर शब्दों के
साथ हमेशा खड़ा रहूँगा
पर्वत सा मैं अडा रहूँगा !

विश्वेन्द्र सिंह की इस कविता (VishwendraTweet) के बाद एक बार फिर सियासी गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है. बता दें कि सियासी संकट के दौरान विश्वेन्द्र सिंह भी उन 19 विधायकों के बेड़े में शामिल थे जिन्होंने पायलट के बगावती रुख अख्तियार किया था. विश्वेन्द्र सिंह अक्सर इशारों इशारों में विरोधियों पर निशाना साधने के लिए जाने जाते हैं.