क्या रद्द को जाएगा ममता बनर्जी का नामांकन? BJP उम्मीदवार ने की शिकायत

Mamta government
Mamta government

The Fact India: पश्चिम बंगाल की भवानीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव हो रहा है. जिसको लेकर सियासी तपिश एकबार फिर से परवान पर है. यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) का मुकाबला भारतीय जनता पार्टी के प्रियंका टिबरीवाल से है. 30 सितंबर को वोटिंग होनी है. उससे पहले बीजेपी ने ममता के नॉमिनेशन पर सवाल खड़ा कर दिया है. भगवा पार्टी का कहना है कि नामांकन पत्र दाखिल करते समय ममता ने अपने खिलाफ दर्ज पांच पुलिस मामलों का खुलासा नहीं किया. हालांकि त्रृणमूल कांग्रेस ने इन आरोपों का खंडन किया है.

बंगाल: NIA जांच के आदेश के दूसरे दिन BJP सांसद के घर हुई बमबारी

भवानीपुर में ममता की प्रतिष्ठा दांव पर

भवानीपुर उपचुनाव जीतना ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) के लिए आवश्यक है. अगर वह इसमें सफल नहीं होती हैं तो उनकी सीएम की कुर्सी चली जाएगी. आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट से बीजेपी के सुवेंदु अधिकारी के हाथों चुनाव हारने के बाद ममता के लिए ऐसी नौबत उत्पन्न हुई. इस मामले पर तृणमूल कांग्रेस का कहना है कि ममता बनर्जी को केवल मामलों का खुलासा करने की आवश्यकता थी यदि उनका वास्तव में आरोप पत्र में नाम है.

एमपी में बेरोजगारों की बल्ले- बल्ले, शिवराज सरकार निकालेगी 1 लाख वेकैंसी

भाजपा उम्मीदवार ने जताई ये आपत्ति

वहीं भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरीवाल के चुनाव एजेंट ने अपनी शिकायत दर्ज करने के लिए भवानीपुर के रिटर्निंग ऑफिसर को पत्र लिखा है. उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) के खिलाफ पांच पुलिस मामले दर्ज किए गए हैं और वह इन विवरणों का खुलासा करने में विफल रही हैं. आपको बता दें कि ममता बनर्जी के खिलाफ ये सभी पांच मामले असम में दर्ज किए गए हैं. इसी तरह की शिकायत उनके खिलाफ अप्रैल-मई चुनाव से पहले भी दर्ज कराई गई थी.