World Blood Donor Day: क्या है विश्व रक्त दाता दिवस का महत्व, आप बने ब्लड डोनर डे का हिस्सा

World Blood Donor Day

The Fact India: हर साल 14 जून ब्लड डोनर डे (World Blood Donor Day) के रूप में मनाया जाता है । सन् 2004 में इसकी शुरुआत की गई ताकि लोगों को सुरक्षित रक्त और रक्त उत्पादों की आवश्यकता के बारे में जागरुक किया जा सके और रक्तदाताओं का आभार जताया जा सके।

कौन होगा इस बार मेजबान देश WHO के मुताबिक इस बार ब्लड डोनर डे World Blood Donor Day() की मेजबानी इटली करेगा जो 14 जून को रोम में होगा।

कैसे बन सकते है आप ब्लड डोनर डे का हिस्सा यदि आपकी आयु 18 से से 65 वर्ष के बीच है और वजन 48 किलो से ज्यादा है तो आप रक्तदान कर इस महान दिन का हिस्सा बन सकते है  । रक्तदान करने में आपको अपने जीवन के कुछ ही पल देने होगे और आपके इन पलों से किसी की पूरी जिंदगी बच सकती है और यदि किसी कारण से आप रक्तदान करने में असमर्थ है तो आप लोगो को इसके प्रति जागरुक कर भी इस दिन का हिस्सा बन सकते है।

ब्लड डोनेट करते समय इन बातों का रखे ध्यान सिर्फ 18 से 65 वर्ष के व्यक्ति जिनका वजन 48 किलो से ज्यादा है वही रक्तदान करे इनमें पुरुष व महिलाऐं दोंनो शामिल है।महिलाओ को प्रेग्नेंसी व महामारी के समय रक्तदान करने से बचना चाहिए हालांकि अगर इस दौरान आयरन की कमी किसी महिला में नहीं है तो वो रक्तदान कर सकती और अगर कोई महिला ब्रेस्ट फिडिंग कराती है तो  रक्तदान ना करे। रक्तदान से पहले व्यक्ति को भरपूर नींद लेनी चाहिए। अगर रक्तदान के बाद किसी भी तरह की परेशानी जैसे उल्टी, बुखार, खांसी, चक्कर आदि कोई लक्षण नजर आए तो तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से जांच करवाये।