जंतर-मंतर पर चलेगी किसान संसद, शर्तों के साथ प्रदर्शन की मिली इजाजत

The Fact India: केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ सात महीनों से चल रहा किसान आंदोलन आज एक फिर दिल्ली में दाखिल हो रहा है. आज से किसान हर रोज जंतर-मंतर पहुंचकर प्रदर्शन (Farmer’s Parliament) करेंगे और अपनी मांगें रखेंगे. दिल्ली सरकार ने किसानों को एंट्री की इजाजत दे दी है. यह परमिशन 22 जुलाई से लेकर 9 अगस्त तक है. प्रदर्शन का समय सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक रहेगा. दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने शर्तों के साथ प्रदर्शन की मंजूरी दी है.

चक्का जाम! राजस्थान में आज नहीं चलेंगी निजी बसें, इन मांगों पर अड़े

गुरुवार से लेकर 9 अगस्त तक किसान रोजाना जंतर-मंतर पर जुटेंगे और तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करेंगे. संसद का मानसून सत्र 13 अगस्त तक चलेगा और किसानों को शर्तों के साथ प्रदर्शन की इजाजत मिली है. शनिवार और रविवार को किसान विरोध प्रदर्शन नहीं करेंगे. दिल्ली में इस समय आपदा प्रबंधन कानून लागू है, जिसके चलते कहीं भी कोई जमावड़ा नहीं हो सकता. लेकिन किसानों के आंदोलन के लिए दिल्ली सरकार ने दिशा निर्देशों में संशोधन किया और इसकी इजाजत दी है.

भक्तों के लिए बाबा श्याम का खुला दरबार, इन गाइडलाइन की करनी होगी पालना

किसान नेता राकेश टिकैत से जब यह पूछा गया कि गणतंत्र दिवस हिंसा जैसी परिस्थिति से निपटने के लिए उनकी क्या तैयारियां हैं, तो उन्होंने कहा कि संसद जंतर-मंतर (Farmer’s Parliament) से केवल 150 मीटर दूर है. हम वहीं किसान संसद का आयोजन करेंगे. हम गुंडे हैं क्या? हमें गुंडागर्दी से क्या मतलब?