किरोड़ी के उदयपुर प्रकरण पर वसुंधरा-पूनिया ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना

The Fact India: आज से झीलों की नगरी उदयपुर में कांग्रेस के नव संकल्प शिविर का आगाज हो गया है. लेकिन उससे पहले मेवाड़ की धरा पर भाजपा के राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने जमकर तहलका मचाया. पहले उदयपुर के होटल में हाई वोल्टेज ड्रामा चला. जिसके बाद पुलिस ने किरोड़ी को जबरन मेवाड़ से जयपुर रवाना कर दिया. लेकिन अजमेर पहुंचते-पहुंचते किरोड़ी ने राजस्थान पुलिस की सांसे फुला दी. अचानक गाडी से उतर कर किरोड़ी भागने लगे. तो पुलिस भी पीछे पीछे भागती दिखाई दी.

इस प्रकरण को लेकर भाजपा ने सूबे की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने ट्वीट कर घटना को लोकतांत्रिक गरिमा का अपमान बताया. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने भी बयान जारी कर घटना की निंदा की.

Daily Horoscope : जानिए क्या कहते हैं आपकी किस्मत के तारे (13 मई 2022)

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि कार्यकर्ता की मृत्यु पर संवेदना प्रकट करने उदयपुर गए राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा को पुलिस द्वारा जबरन होटल से बाहर ले जाने तथा दुर्व्यवहार करने की घटना निंदनीय है. यह कार्रवाई लोकतांत्रिक गरिमा का अपमान है. इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि किरोड़ी लाल मीणा वहाँ एक कार्यकर्ता के यहाँ शोक संवेदना प्रकट करने गए हैं तत्पश्चात् आदिवासी मेले में शामिल होते लेकिन उससे पूर्व ही तानाशाह अशोक गहलोत जी की पुलिस ने एक सांसद होते हुए उनके साथ जो बर्ताव किया वो निंदनीय है.