बैंसला बोले, आज सरकार का फीडबैक सुनने जाएंगे, लागू हो 2019 व 2020 का समझौता

The Fact India: 2019 और 2020 का समझौता प्रदेश सरकार से लागू करवाने के लिए गुर्जर नेता विजय बैंसला ने कमर कस ली है। उन्होंने कहा कि आज हम सरकार का फीडबैक सुनने जा रहे हैं। उनसे वार्ता करने के लिए नहीं जा रहे। बैंसला ने कहा कि हमने सरकार के सामने पॉइंट रख दिए हैं। बातचीत तो तब होती है, जब लंबी चर्चा होती है। बैंसला ने कहा कि सरकार ने हमारे पॉइंट पर क्‍या काम किया है, यही आज हम सुनने जाएंगे। उन्होंने कहा कि 2019-2020 का समझौता है। हम उसी को लागू करने की मांग कर रहे हैं।

बैंसला ने कहा कि अपनी सारी बातें हमने कल सरकार के समक्ष रख दी थीं। आज वो बताएंगे क्या फीडबैक है। बैंसला ने कहा कि सरकार ने कल की बैठक में 24 घंटे का टाइम देने की बात कही थी। हम इस हमने सोचा कि जब चार साल इंतजार कर लिया तो 24 घंटे और सहीं। क्या फर्क पड़ता है। उन्होंने जोर देकर कहा कि वो ही मुद्दे हैं जो पहले थे। कुछ भी बदला नहीं है। पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट को बदनाम करने के लिए टूल बनाए जाने के आरोपों पर बैंसला ने कहा कि उनकी वो जाने, उनका मालिक जाने। हमें इस मामले पर कोई कमेंट नहीं करना है। मैं तो इतना कहूंगा जो समाज के साथ खड़ा है। हम उसके साथ खड़े हैं।

दरअसल, सरकार ने आज सचिवालय में फिर से बैठक के लिए गुर्जर प्रतिनिधियों को बुलाया है। गुर्जर नेता साल 2019 और 2020 में हुए समझौते के बिंदू लागू करने की मांग कर रहे हैं। इसमें भर्तियों में एमबीसी आरक्षण के लंबित केस, बैकलॉग पोस्ट में आरक्षण देकर गुर्जर समाज के युवाओं की भर्ती करने, देवनारायण योजना, पुरानी भर्तियों में आरक्षण का फायदा दिलाने, गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दौरान समाज के लोगों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने, शैडो पोस्ट क्रिएट करने, एससी-एसटी की तर्ज पर एमबीसी के स्टूडेंट्स को मेडिकल में फीस में छूट देने जैसे मुद्दे शामिल हैं।

बैठक में विजय बैंसला समेत करीब 20 गुर्जर प्रतिनिधि शामिल होंगे। सरकार की तरफ से गृह राज्यमंत्री राजेंद्र यादव, शिक्षा मंत्री डॉ बीडी कल्ला, सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली, देवनारायण बोर्ड अध्यक्ष जोगिंदर सिंह अवाना, खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना और ब्यूरोक्रेट्स गुर्जर नेताओं से बातचीत में मौजूद रहेंगे।

495 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *