भाजपा का मेगा प्लान, गहलोत सरकार के खिलाफ आज से ‘हल्ला बोल’

The Fact India: राजस्थान की सियासत एक बार गरमाने जा रही है. उपचुनाव के सियासी रण से पहले भाजपा ने सूबे की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ हल्ला बोल (BJP Hall-Bol) कर सियासत को और तल्ख कर दिया है. भाजपा ने गहलोत सरार को चारों खाने चित करने के लिए मेगा प्लान तैयार कर लिया है. कांग्रेस भाजपा पर आरोप लगाते रही है कि वो पिछले ढाई साल में किसी तरह का कोई बड़ा आंदोलन नहीं खड़ा कर पाई. किसी तरह के आंदोलन भी हुए तो वो सिर्फ सोशल मीडिया तक ही सिमट कर रह गए. लेकिन अब भाजपा ने गहलोत सरकार के खिलाफ मेगा प्लान तैयार कर लिया है.

दरअसल भाजपा (BJP Hall-Bol) आज से ना सिर्फ सोशल मीडिया के जरिये सोशल योद्धाओं को उतार कर गहलोत सरकार के खिलाफ जंग छेड़ दी है बल्कि प्रदेशभर की सड़कों पर भी उतर कर हल्ला बोल शुरू कर दिया है. भाजपा आज से प्रदेशभर में बिजली बिलो में वृद्धि, बिजली कटौती, समय पर कृषि कनेक्शन नही मिल पाना, बेरोजगारी भत्ता नहीं मिलने, सम्पूर्ण कर्ज माफी की वादाखिलाफी और सरकार द्वारा किसानों को उत्पीड़न करने के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

20 हजार से अधिक बिजली बिल पेमेंट्स का अब हो सकेगा चेक या डीडी से भुगतान

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि नवंबर में सभी जिला मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन होंगे और 15 दिसंबर को जयपुर में 2 लाख से अधिक कार्यकर्ताओं की मौजदूगी में बड़ा आंदोलन होगा… साथ ही उपचुनाव पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस को मुददों की जानकारी नहीं है. सीएम गहलोत को भी 2023 में पता चलेगा, उनको गलत फहमी में नहीं रहना चाहिए

बहरहाल हल्ला बोल आंदोलन को सफल बनाने के लिए भाजपा ने 77 नेताओं को अलग-अलग जगह भेजा है. प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया जोधपुर के ओसियां, राष्ट्रीय मंत्री अलका गुर्जर देवली में कार्यकर्ताओं के साथ धरना दे रही हैं. खैर भाजपा अपने धरने प्रदर्शन में कितना सफल रहती है ये हल्ला बोल की तस्वीरो से ही साफ़ होगा. लेकिन सबको इंतज़ार 15 दिसंबर की उस रैली की है जिसमें 2 लाख की भीड़ जुटाने का दावा किया जाता है..