ब्लड क्लॉटिंग,खून का थक्का जमने की बीमारी बेहद खतरनाक, संकेतों को न करें नजरअंदाज

Blood clotting

The Fact India: जब भी आपको चोट लगती है (Injury) या किसी तरह का कट लगता है तो स्किन से खून बहने लगता है. इस दौरान ब्लड क्लॉट यानी खून का थक्का जमना (Blood clotting) अच्छा माना जाता है क्योंकि थक्का जमने पर बहुत अधिक ब्लीडिंग होने से रोकने में मदद (Stops Bleeding) मिलती है. खून में मौजूद कोशिकाएं और प्रोटीन इक्ट्ठा होकर क्लॉट बनाते हैं ताकि ब्लीडिंग को रोका जा सके. लेकिन अगर यह ब्लड क्लॉट अपने आप पिघल नहीं जाता या फिर शरीर के अंदर किसी अंग में या नसों में बनने लगता है तो यह जानलेवा भी साबित हो सकता है. 

ब्लड क्लॉट के संकेतों की करें पहचान

ब्लड क्लॉट (Blood clotting) के इन संकेतों को पहचानना बेहद जरूरी है ताकि समय रहते ही इसका इलाज हो सके और इसे जानलेवा (Life threatening) होने से रोका जा सके. अगर धमनी में खून का थक्का जम जाए तो हार्ट अटैक (Heart Attack) हो सकता है. अगर फेफड़ों में कभी क्लॉट की समस्या हो जाए तो इसे पल्मोनरी एम्बोलिज्म कहा जाता है और अगर शरीर के किसी नस में खून का थक्का जमने लगे तो उसे डीप वेन थ्रॉम्बोसिस (DVT) कहा जाता है.

1. शरीर के किसी हिस्से में सूजन:- जब शरीर की किसी नस या रक्तवाहिका में क्लॉट की वजह से खून का प्रवाह रुक जाता है (Blood flow) तो शरीर के उस हिस्से में सूजन होने लगती है (Swelling). अगर पैर के निचले हिस्से में सूजन होने लगे तो यह डीवीटी का संकेत होता है. ब्लड क्लॉट की समस्या ठीक होने जाने के बाद भी हर 3 में से 1 व्यक्ति को सूजन की और दर्द की समस्या बनी रहती है.

2. स्किन का कलर चेंज होना:- अगर हाथ या पैर की किसी नस में ब्लड क्लॉट हो जाए तो उस हिस्से की स्किन का रंग लाल या नीला हो जाता है . कई बार रक्तवाहिका को हुए नुकसान की वजह से भी स्किन का रंग बदल जाता है. इसके अलावा फेफड़ों में अगर ब्लड क्लॉट (Blood clotting) हो जाए तो इसकी वजह से भी आपकी त्वचा नीली पड़ सकती है.

3. तेज दर्द महसूस होना:- अगर किसी को अचानक सीने में तेज दर्द होने लगे तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि धमनी में क्लॉट की वजह से हार्ट अटैक आया है या फिर फेफड़ों में क्लॉट की समस्या बढ़ गई है. इसके अलावा खून का थक्का (Blood clotting) जमने की वजह से हाथ, पैर या पेट में भी दर्द महसूस हो सकता है.

4. सांस लेने में तकलीफ:- यह एक गंभीर लक्षण है जो फेफड़ों में या हार्ट में खून का थक्का जमने का संकेत देता है. सांस लेने में तकलीफ (Blood clotting) के साथ ही बहुत अधिक पसीना भी आ सकता है या फिर हार्ट बीट भी तेज हो सकती है.