World Cup : आज के दिन कप्तान कपिल देव की क्रिकेट टीम ने रचा था इतिहास

The Fact India : आज का दिन यानी 25 जून भारत के लिए खास दिन हैं, लेकिन सबसे ज्यादा खास इण्डिया की क्रिकेट टीम के लिए है, क्योंकि आज के ही दिन भारतीय टीम ने कपिल देव की कप्तानी में फाइनल (World Cup) में वेस्टइंडीज को हराकर ICC की पहली ट्राफी अपने नाम कर इतिहास रच दिया था. आज की तारीख 25  जून  इतिहास के सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो गयी. इस तारीख के बाद भारतीय क्रिकेट पूरी तरह बदल गया, और यहीं से भारत में क्रिकेट को धर्म की तरह पूजा जाने लगा था. आज आपको बताएंगे कि  किस तरह भारतीय टीम ने अपना  करिश्मा दिखा कर इस दिन को स्वर्ण अक्षरों में  दर्ज कर दिया.

Admission : 27 जून से शुरू होंगे स्कूल-कॉलेजों में एडमिशन

आज से 39 साल पहले  25 जून, 1983 को भारतीय टीम और वेस्टइंडीज की टीम का फ़ाइनल (World Cup) मुकाबला था. उस वक्त भारतीय टीम के लिए  वेस्टइंडीज की टीम को हराना काफी मुश्किल था, क्योंकि ये टीम दो बार वर्ल्ड कप की चैंपियन भी थी. सबसे बड़ी बात यह थी, कि इण्डिया टीम जब इंग्लैंड गई थी, तब किसी को नहीं पता था कि ये टीम वर्ल्ड कप की ट्राफी उठाकर लाएगी. टीम इंडिया ने फाइनल मैच में वेस्टइंडीज को लो स्कोरिंग मैच में 43 रन से हराया था. भारत ने पहले मुकाबले में छह विकेट से वेस्टइंडीज को हराया था. टीम इंडिया ने जिम्बाव्वे और ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली थी. सेमीफाइनल में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को हराया था. शुरुआत में जब ये फ़ाइनल मैच हुआ था तब भारतीय टीम ने 183 रन ही बना पाए थे, जिसके बाद लगा कि इंडिया टीम ये मैच हारेगी लेकिन वेस्टइंडीज  के खिलाडियों की टीम सिर्फ 140 रन पर ही सिमिट गयी जिसके बाद भारत ने  फ़ाइनल मैच जीतकर  ट्रॉफी हांसिल कर इतिहास रच दिया था. कपिल देव की इस टीम को आज भी याद किया जाता है. जिसकी वजह से आज भारत में क्रिकेट को फैंस दिल लगाकर देखते हैं.

334 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.