दिल्ली में शराब नीति को लेकर घमासान, LG ने CBI जांच के दिए आदेश तो केजरीवाल ने कहा ये

The Fact India: दिल्ली की सियासत में एक बार फिर बड़ा घमासान मच गया है. केजरीवाल सरकार की नई आबकारी नीति (Liquor Policy) की लेफ्टिनेंट गवर्नर ने CBI जांच के आदेश दे दिए हैं. जिसके जांच के घेरे में डीप्टी सीएम मनीष सिसोदिया आ सकते हैं. लिहाजा ऐसे में बवाल मचना तो तय है. इस पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तीखी प्रतिकिया देते हुए कहा कि आप जेल से डरने वाली नहीं है.

दरअसल, दिल्ली सरकार ने आबकारी नीति 2022-23 (Liquor Policy) की अनुमति में देरी को लेकर मौजूदा खुदरा शराब की दुकानों की लाइसेंस अवधि अगले दो महीनों के लिए बढ़ा दी थी. इसमें अन्य लाइसेंस के अलावा शराब की होम डिलीवरी भी शामिल थी. दिल्ली कैबिनेट ने 5 मई को हुई अपनी बैठक में आबकारी नीति 2022-23 को मंजूरी दी थी.
इसे लेकर चीफ सेक्रेटरी की रिपोर्ट में अनियमितता की बात सामने आने पर सीबीआई जांच का आदेश दिया गया है. चीफ सेक्रेटरी की रिपोर्ट में शराब माफिया को 144 करोड़ का फायदा पहुंचाने का जिक्र था.

LG के आदेश के बाद केजरीवाल ने सिसोदिया को फंसाने की बात कहते हुए कहा कि “हम जेल से नहीं डरते, न ही फांसी से डरते हैं. उन्होंने हमारे लोगों के खिलाफ कई मामले बनाए हैं. पंजाब में जीत के बाद से आप का विकास हो रहा है. AAP का समय आ गया है. वे हमें राष्ट्रीय स्तर तक बढ़ते हुए नहीं देख सकते हैं इसलिए वे इस तरह के उपायों का सहारा ले रहे हैं. लेकिन हमें कोई नहीं रोक सकता.

इस पर पूर्व क्रिकेटर और भाजपा नेता गौतम गंभीर ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. गम्भीर ने केजरीवाल सरकार पर तंज कसते हुए लिखा कि ‘सुना है दिल्ली में शराब का कारोबार करने वाले मंत्री पर भी कार्रवाई होने वाली है! एक मंत्री पहले से जेल में है, दूसरा भी तैयार है.’

107 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.