पिटबुल ने काटा, करवानी पड़ रही है मासूम के चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी

The Fact India: अजमेर रोड़ टैगोर नगर में एक पिटबुल नस्ल के डॉग (Dog) ने एक मासूम को काट लिया था. डॉग ने बच्चे के सिर और चेहरे को अपने जबड़े से पकड़ लिया था जिससे बच्चा बुरी तरह से घायल हो गया था और उसके चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी करवानी पड़ रही है . मासूम को मानसरोवर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. पर अस्पताल में प्लास्टिक सर्जरी की व्यव्स्था नहीं होने के कारण उसे एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा.बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है.

एसएमएस अस्पताल पर लगाया लापरवाही का आरोप

परिजनों ने बताया कि पहले विशाल को एसएमएस अस्पताल के पॉलीट्रोमा में भर्ती करवाया था. जहां से परिजन बच्चे को 2-3 घंटे बाद ही निजी अस्पताल ले गए पर निजी अस्पताल में प्लास्टिक सर्जरी की सुविधा नहीं थी. इस कारण उसे वापस एसएमएस में भर्ती करवाना पड़ा. परिजनों ने अस्पताल पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया था. परिजनों का कहना था कि बच्चे का इलाज ठीक से नहीं चल रहा था. बाद में डॉक्टर्स के समझाने पर परिजन शांत हुए. वही चित्रकूट थाने के सीआई पन्नालाल जांगिड का कहना है कि पिटबुल डॉग (Dog) को अपने पास रखते हुए हुई इतनी बड़ी लापरवाही की जांच की जा रही है.

11 साल के मासूम पर पालतू पिटबुल ने किया जानलेवा हमला

पिटबुल पर प्रतिबंध लगाने की मांग

पिटबुल कुत्ते की बेहद खतरनाक नस्ल है. नगर निगम ग्रेटर में एनिमल शाखा के चेयरमेन अरूण कुमार वर्मा ने मेयर शील धाबाई व सीईओँ ग्रेटर यज्ञ मित्र सिंह को लिखित में लिखकर इस नस्ल के कुत्तों को पालने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है. जिन लोगों ने ऐसे कुत्तो को पाल रखा है  उन्हें सख्त हिदायत दी जाए कि पिट बुल व रोट व्हीलर जैसे कुत्तों को खुले में ना छोड़ा जाए. अगर उन्हें बाहर घुमाने भी ले जाया जा रहा हो तो मुंह पर जाली का मास्क लगाकर ले जाया जाए ताकि ये किसी को काट ना सके.