किसान नेता राकेश टिकैत बोले- लखीमपुर में BJP कार्यकर्ताओं की हत्या अपराधी नहीं

Farmer leader
Farmer leader

The Fact India: भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत(Rakesh Tikait) ने शनिवार को बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं की लिंचिंग को वह गलत नहीं मानते. उन्होंने कहा कि हम इनको गलत नहीं मानते हैं. टिकैत ने कहा कि लखीमपुर में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या करने वालों को अपराधी मत समझो, उन्होंने केवल प्रदर्शनकारियों के ऊपर एसयूवी चढ़ाए जाने की प्रतिक्रिया में ऐसा किया. उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की पीट-पीट कर हत्या करना केवल ‘कार्रवाई की प्रतिक्रिया’ थी. आपको बता दें 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा में चार किसानों के अलावा दो भाजपा कार्यकर्ता, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के एक ड्राइवर और एक स्थानीय रिपोर्टर की मौत हो गई थी.

राजधानी दिल्ली में छा सकता है बिजली संकट, CM केजरीवाल ने PM मोदी से मांगी मदद

मंत्री पुत्र आशीष आज क्राइम ब्रांच के ऑफिस पहुंचे

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा(Ajay Mishra) के बेटे आशीष मिश्रा लखीमपुर खीरी(Lakhimpur Khri) में किसानों की मौत के मामले में पूछताछ के लिए शनिवार सुबह साढ़े दस बजे क्राइम ब्रांच के ऑफिस पहुंचे. लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक विजय ढुल ने पूछताछ के बारे में कुछ भी बताने से इनकार कर दिया. इस बीच, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा (टेनी) यहां अपने स्थानीय कार्यालय में थे और वकीलों से कानूनी राय ले रहे थे.

आर्यन ड्रग केस: NCP ने NCB पर लगाए सनसनीखेज आरोप, कहा- BJP के दबाव में 3 लोगों को छोड़ा

दूसरी नोटिस चस्पा होने के बाद हाजिर हुए आशीष

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में आशीष मिश्रा(Ashish Mishra) को शुक्रवार को पुलिस ने दूसरी नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए शनिवार सुबह 11 बजे तक पेश होने का समय दिया था. आशीष मिश्रा शुक्रवार को लखीमपुर खीरी में पुलिस के सामने पेश नहीं हुए थे, इसलिए उनके घर के बाहर दूसरी नोटिस चस्पा किया गया था.