पायलट के समर्थन में कूदे पूर्व PCC चीफ, कहा- कार्यकर्ताओं की सुनवाई करे आलाकमान

The Fact India: राजस्थान की सियासत में आया सियासी उबाल ठंडा होने का नाम नहीं लेया रहा है. गहलोत-पायलट के बीच बयानबाजी का दौर थमा तो अब पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष नारायण सिंह ने अपना बयान जारी कर धमाका कर दिया है. बयान जारी करते हुए सिंह ने कहा कि पार्टी में कार्यकर्ताओं और किसानों का सम्मान होना चाहिए. नारायण सिंह का झुकाव अब पायलट गुट की ओर देखने को मिल रहा है.

भाजपा की सियासी खिंचात पर बोले पूनिया चुनाव नजदीक नहीं लिहाजा नेतृत्व का सवाल उठाना गलत

2003 में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष रहे नारायण सिंह ने कहा जरुरत इस बात की है कि प्रदेश स्तर पर और जिला स्तर पर कांग्रेसजनों और कार्यकर्ताओं को सत्ता में भागीदारी दी जाए. उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए यह जरुरी है. इसलिए ऐसा किया जाना कांग्रेस नेतृत्व की नैतिक जिम्मेदारी है.

शादी समारोह में किरोड़ी और इंदिरा मीणा ने जमकर लगाए ठुमके, टुटा कोरोना प्रोटोकॉल

सिंह ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान को उन पुराने और निष्ठावान कांग्रेस नेताओं की सुनवाई करनी चाहिए जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में पार्टी का झंडा बुलंद रखा. राज्य किसान आयोग के भी पूर्व अध्यक्ष रहे नारायण सिंह ने कहा कि आज देश में जो हालात बने हैं और केंद्र सरकार का जो किसान विरोधी रवैया है उसका किसानों पर विपरीत प्रभाव पड़ा है. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को किसानों की हरसंभव मदद करने का काम करना चाहिए.