7 दिन भूख हड़ताल पर बैठा गैंगस्टर पपला गुर्जर, ये है वजह

The Fact India: अजमेर की जेल में बंद गैंगस्टर विक्रम उर्फ़ पपला गुर्जर (PaplaGurjar) 7 दिन से भूख हड़ताल पर था. जिसके बाद 20 सितम्बर से उसने फिर खाना शुरू कर दिया. भूख हड़ताल के पीछे पपला की मांग है कि उसे अजमेर की जेल से देशभर की किसी भी दूसरी जेल में शिफ्ट किया जाए. क्योंकि यहां उसकी जान को खतरा है. दरअसल बात यह है कि 22 सितंबर को पपला की बहरोड़ कोर्ट में पेशी थी, लेकिन पुलिस उसे लेकर नहीं पहुंची. इसी बीच वकील ने पपला की भूख हड़ताल की जानकारी दी थी.

पपला के वकील ने बताया कि पपला के पिता उससे मिलने अजमेर भी गए थे. जिसके बाद उनके पिता ने पपला (PaplaGurjar) को दूसरे जेल में शिफ्ट करने की बात भी कहीं. इससे पहले भी पपला को पेशी के दौरान बेडियों में बांध कर लाने की मांग की थी, ताकि उसका एनकाउंटर नहीं हो सके. इससे पुलिस पपला को पेशी पर भी नहीं ले जा पा रही हैं. पिछली पांच पेशियों पर पपला को नहीं ले जाया गया हैं और अब उसकी अगली पेशी 11 अक्टूबर को होंगी.

एनकाउंटर का डर है पपला को
जेल में बंद पपला को खुद के एनकाउंटर का डर सता रहा है. उनका वकील पहले भी जेल प्रशासन से यह मांग कर चूका है कि पपला को पेशी के समय बेड़ियों में बांध कर ही लाया जाए. जिससे उनका एनकाउंटर न हो सके. पपला ने भी कहा है कि उन्हें अजमेर के जेल के अलावा कहीं भी और दूसरी जेल में शिफ्ट किया जाए.

REET को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत के कई अहम निर्णय, जानिए पूरी डिटेल

हाई सिक्योरिटी जेल अजमेर में है पपला
पपला 15 फरवरी से अजमेर की हाई सिक्योरिटी जेल में बंद है. वहीं से उसे पेशी पर लाया जाता है. पहले 2 सितंबर को पपला को पेशी पर नहीं लाया गया, फिर 22 सितंबर को भी पपला को पेश नहीं किया गया, अब अगली तारीख 11 अक्टूबर है.

सितंबर 2019 को बहरोड़ से फरार हुआ था
पपला पर हत्या, दुष्कर्म व मारपीट के मामले दर्ज हैं. 6 सितंबर 2019 को वह अपने कई साथियों के साथ बहरोड़ में पकड़ा गया था. उसके पास कार में करीब 31 लाख रुपए भी मिले थे. अगले दिन सुबह-सुबह ही पपला को उसके साथी बदमाश बहरोड़ थाने का लॉकअप तोड़कर भगा ले गए थे. एके-47 से गोलियां बरसाई भी थीं.

पपला को उसकी गर्लफ्रेंड के साथ पकड़ा गया था
इसके बाद पपला महाराष्ट्र के कोल्हापुर में गर्लफ्रेंड जिया के साथ पकड़ा गया था. पुलिस उसे और उसकी गर्लफ्रेंड जिया को अलवर लेकर आई. वहां कई दिन पुलिस ने उन दोनों को रिमांड पर लिया. जिसके बाद उसे 15 फरवरी को अजमेर जेल भेज दिया गया. उसकी गर्लफ्रेंड जिया अलवर जेल में ही थी. जिया अलवर जेल से तीन महीने पहले ही रिहा हो चुकी है. जिया को 4 फरवरी को अलवर जेल भेजा था. वहां वह करीब दो माह 4 दिन जेल में रही. बाद में हाईकोर्ट से उसकी जमानत हो गई थी. इसके बाद भी दोनों को बीची-बीच में पेशी पर आना पड़ता है.