मुजफ्फरनगर महासभा में प्रियंका ने कहा- टिकैत के आंसू निकले तो पीएम के होठों पर थी हंसी

The Fact India: केंद्र के कृषि कानूनों एक खिलाफ रार जारी है. जहां एक ओर किसान दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस भी मोदी सरकार को घेरने में जुटी हुई है. इसी बीच आज कांग्रेस मुजफ्फरनगर में महासभा (Muzaffarnagar Mahasabha) आयोजित की. जहां संबोधित करते हुए प्रियंका ने कहा कि 90 दिनों से लाखों किसान दिल्ली के बाहर बैठे हुए हैं. उन्होंने केंद्र को आड़े हाथ लेते हुए आरोप लगाया कि किसानों को प्रताड़ित किया गया, उन्हें देशद्रोही कहा गया. प्रधानमंत्री ने किसानों का मजाक उड़ाया.

ममता बनर्जी ने खेला बंगाली कार्ड, कहा बंगाल को चाहिए अपनी बेटी

प्रियंका ने कहा कि यहां मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar Mahasabha) में आना मेरा कर्तव्य है. हर नेता को अहसास होना चाहिए कि जनता आकर अहसान करती है. 90 दिनों से लाखों किसान दिल्ली के बाहर बैठे हुए हैं. 215 किसान शहीद हुए, बिजली और पानी की लाइन काटी गई. राजधानी की सीमा को देश की सीमा बना दिया गया. किसान को प्रताड़ित किया गया, ज़लील किया गया. किसान को देशद्रोही कहा गया. प्रधानमंत्री ने संसद में उन्हें आंदोलनजीवी कहा. प्रधानमंत्री ने किसानों का मज़ाक़ उड़ाया.

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि सरकार पर पूंजीपतियों का साथ देने का आरोप लगाया. प्रियंका वाड्रा ने कहा कि इनके पूंजीपति मित्र हज़ारों करोड़ कमा रहे हैं. धीरे-धीरे सरकारी मंडियां बंद हो जाएंगी. प्राइवेट मंडियों के खुलने से पूंजीपतियों की चलेगी, जो चाहेंगे वो करेंगे. इस कानून के तहत आपकी सुनवाई नहीं है. आप अदालत नहीं जा सकते, आपको एसडीएम के पास जाना होगा. आप लड़ नहीं सकते. ये नए कानूनों में लिखा है.