ISI: पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के हनीट्रैप में फंसा सैन्यकर्मी, गिरफ्तार

The Fact India: राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी (ISI) अपने जाल बिछाए रहती है. इनके इसी जाल में जोधपुर मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस का एक कर्मचारी राम सिंह फंस गया. दरअसल पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई (ISI) की महिलाओं ने इसे हनी ट्रैप का शिकार बनाया है. राम सिंह इन महिलाओं को सैन्य क्षेत्र की गोपनीय सूचनाएं पहुंचाने लगा था. लेकिन फिर खुफिया एजेंसियों को शक हुआ और जांच कर इसे पकड़ लिया गया. उससे कड़ी पूछताछ की जा रही है.

शक के बिनाह पर रखी जा रही थी नजर

आरोपी राम सिंह मिलिट्री चीफ इंजीनियर जोन ऑफिस में कार्यरत था. वह एमईएस सैन्य क्षेत्र और कुछ अन्य महत्वपूर्ण निर्माण कार्यों की जिम्मेदारी संभालता है. रामसिंह अपने कार्यालय में सैन्य क्षेत्र में प्रस्तावित निर्माण योजनाओं के गोपनीय पत्रों की फोटो खींच सीमा पार पाकिस्तान भेज देता था. खुफिया एजेंसियों को उसकी गतिविधियों के कारण संदेह हुआ. ऐसे में गत दो माह से उस पर नजर रखी जा रही थी.

जिन्दा आदमी का पोस्टमार्टम कर उठाया 10 लाख का क्लेम, डॉक्टर, वकील और पुलिस भी शामिल

मंगलवार के दिन मौका देख इंटेलिजेंस एजेंसी ने उसे दबोच लिया. रामसिंह मूलत माउंट आबू का रहने वाला है और हाल में रसाला रोड स्थित एमईएस क्वार्टर में रहता है. वह तीन साल पहले ही चतुर्थ श्रेणी पद पर नियुक्त हुआ. जांच के दौरान उसके फोन से सेना के कई पत्रों की फोटो मिली है जो उसने सीमा पार भेज दिए.