ममता ने खेला बड़ा दांव! मुख्य सचिव को रिटायर कर बनाया मुख्य सलाहकार

The Fact India: पश्चिम बंगाल से भले ही तूफान आकर गुजर गया हो लेकिन सियासी तूफान अब भी बरकरा है. दो दिन तक चले बवाल के बाद मुख्य सचिव (Bengal CS) अलपन बंदोपाध्याय ने आज इस्तीफा दे दिया. इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा दांव खेल दिया है. ममता ने अलपन बंदोपाध्याय को अपना मुख्य सलाहकार बनाने का ऐलान किया है. मंगलवार से अलपन बंदोपाध्याय मुख्य सलाहकार के तौर पर काम शुरू करेंगे. मुख्य सचिव पद की जिम्मेदारी हरिकृष्ण द्विवेदी को सौंपी गई है.

अभी तक बिजली बिल नहीं करवाया है जमा तो नहीं कटेगा कनेक्शन, 25 जून तक छूट

ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि मैं अलपन बंदोपाध्याय को नबन्ना छोड़ने नहीं दूंगी. चूंकि अलपन बंदोपाध्याय 31 मई को अपनी सेवा से सेवानिवृत्त हुए हैं, इसलिए वह दिल्ली में शामिल नहीं होने जा रहे हैं. वह अब मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार हैं. ममता बनर्जी ने आगे कहा कि अलपन 1 जून यानि की मंगलवार से मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार का कार्यभार संभालेंगे.

मिनी अनलॉक में मिल सकती ये छूट, आज सीएम गहलोत करेंगे फैसला

दरअसल चक्रवाती तूफान के बाद नुक्सान का जायजा लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल पहुंचे थे. लेकिन इस बैठक में देर से पहुंचना अलपन बंद्योपाध्याय को भारी पड़ गया. बंद्योपाध्याय को तत्काल बंगाल के चीफ सेक्रेट्री के पद से हटाकर दिल्ली ट्रांसफर कर दिया गया. उसी के बाद यह सारा विवाद पैदा हुआ. सोमवार को गृह मंत्रालय ने उन्हें सुबह दस बजे तक डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग में रिपोर्ट करने का निर्देश दिया था. लेकिन बंगाल सरकार ने उन्हें रिलीव नहीं किया.