राजस्थान में गहराया ऑक्सीजन संकट, बढ़ने लगी डिमांड

Oxygen crisis
Oxygen crisis

The Fact India: पुरे देश में जहा एक और कोरोना वायरस को लेकर हड़कंप मचा हुआ हैं तो वहीँ दूसरी और राजस्थान में तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है,अब एक्टिव केसेज की संख्या एक लाख के नजदीक पहुंच चुकी हैं। बढ़ते कोविड केसेज से ऑक्सीजन (Oxygen crisis) की डिमांड पूरी नहीं हो पा रही हैं। राजस्थान पर बढ़ते ऑक्सीजन के भार को देखते हुए अब राजस्थान सरकार ने इसके लिए 25 लोकसभा सदस्यों और 10 राज्यसभा सदस्यों की मदद मांगी है। ताकी केंद्र से अधिक ऑक्सीजन प्राप्त करने हो सके। आंकड़ों के मुताबिक राजस्थान में अब हर रोज 250 मीट्रिक टन ऑक्सीजन खपत की मांग बढ़ गई है, लेकिन फिलहाल केंद्र से फिलहाल राज्य को केवल प्रति दिन 160 मीट्रिक टन प्राप्त कर रहा है।

अस्पतालों में बेड की किल्लत

स्वास्थ्य विभाग की माने तो वर्तमान में राज्य में 4,000 से अधिक रोगी ऑक्सीजन पर हैं। वहीं सभी प्रमुख अस्पतालों में बेड की भी लगातार किल्लत हो रही है। साथ ही अब मरीजों को इलाज ढूंढना मुश्किल हो रहा है। अब जैसे-जैसे एक्टिव केसेज की संख्या बढ़ने लगी है, ऑक्सीजन की आवश्यकता (Oxygen crisis) महीने के अंत तक बढ़कर 325 मीट्रिक टन तक हो जाएगी। मिली जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विभाग ने सरकार से बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए 120 मीट्रिक लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की तत्काल आपूर्ति के लिए कहा है। ऑक्सीजन ले जाने के लिए 100 और 200 मीट्रिक टन की क्षमता वाले टैंकर भी मांगे गए हैं। इधर इस मामले पर स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा का कहना है कि “पिछले पांच दिनों विश्लेषण के अनुसार, सक्रिय मामलों में वृद्धि के साथ ऑक्सीजन की आवश्यकता प्रतिदिन 10-12 मीट्रिक टन बढ़ रही है।

होम आईसोलेट मरीजों की संख्या में ग्रोथ
जानकारी के अनुसार राजस्थान में मरीजों की संख्या में लगातार हिजाफा हो रहा हैं। जहां अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों की भीड़ बढ़ रही है। कुल मिलाकर देखा जाएं, तो संक्रमण की रफ्तार और सांसों पर हो रहे वार को देखते हुए जल्द अब राजस्थान में अधिक ऑक्सीजन के इंतजाम (Oxygen crisis) करने होंगे। वहीं होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की संख्या में भी 24 घंटे में 12.6 परसेंट ग्रोथ देखने को मिली है। एक्टिव केसज की संख्या 96,366 हो गई। जल्द ही यह आंकड़ा एक लाख को पार कर जाएगा। वहीं बुधवार को आए आंकड़ों के अनुसार नए 14,622 कुल मामले आए हैं।