कृषि कानूनों पर फैलाया जा रहा है भ्रम- पीएम मोदी

PM Modi

The Fact India: दिल्ली में जारी किसान आंदोलन के बीच सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। किसान आंदोलन की तरफ इशारा करते हुए पीएम मोदी ने कृषि कानून के फायदे भी गिनाएं और विपक्ष पर भ्रम फैलाने का आरोप लगाया। नए कानून से किसानों को छल से बचाने का विकल्प मिला है। उन्होंने (PM Modi) कहा कि अब विरोध का आधार फैसला नहीं बल्कि, भ्रम फैलाकर, आशंकाए फैलाकर अपप्रचार किया जा रहा है। भविष्य को लेकर आशंकाएं फैलाई जा रही है जो हुआ ही नहीं है, जो होगा ही नहीं, उसे लेकर समाज में भ्रम फैलाया जा रहा है। ऐसा ही कृषि सुधारों के मामले में भी जानबूझकर खेल खेला जा रहा है। यह वहीं लोग हैं जिन्होंने दशकों तक किसानों के साथ छल किया है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की CM शिवराज से मुलाकात, कैबिनेट विस्तार को लेकर गरमाई सियासत

पीएम मोदी ने कहा कि सालों तक एमएसपी के नाम छल किया गया है। किसानों के नाम पर बड़े-बड़े कर्ज माफी के पैकेज घोषित किए जाते थे परन्तु छोटे और सीमांत किसानों तक ये पहुंचते ही नहीं थे। किसानों के नाम पर योजनाएं देते थे लेकिन छल होता था। वो खुद मानते थे कि एक रुपये में केवल 15 पैसा ही पहुंचता था। यूरिया खाद के नाम पर भी छल किया जाता था। किसान के नाम पर किसी और को फायदा पहुंचाया जाता था। यही खेल लंबे समय तक देश में चलता रहा है।

PM मोदी पहुंचे वाराणसी, 2474 करोड़ की 6-लेन परियोजना का किया शुभारंभ

वाराणसी के खंडूरी गांव में वाराणसी-प्रयागराज 6-लेन हाइवे का लोकार्पण करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी (PM Modi) ने किसानो के लिये क्या क्या किया है सब बताया और बनारस से दिल्ली मे उग्र किसानो के गुस्से को शान्त और समझाने का प्रयास करते दिखे। उन्होंने कहा कि किसानों को नए प्रकल्प और विकल्प दोनों साथ साथ चलें तभी देश का कायाकल्प होता है। सरकारें नीतियां बनाती हैं। नीतियों पर सवाल उठता है तो उसका लाभ होता है। लेकिन पिछले कुछ समय से अलग ही देखने को मिल रहा है। पहले सरकार का फैसला लोगों को पसंद नहीं आता था तो विरोध होता था।