प्रियंका ने की अलवर पीड़िता के पिता से बात, मुख्यमंत्री गहलोत से ली जानकारी

The Fact India: अलवर में मूक बधिर नाबालिग (Alwar_Case) से की हुई हैवानियत ने राजस्थान के सियासी पारे को बढ़ा रखा है. भाजपा चौतरफा हमला बोल रही है और सवाल खड़ा कर रही है कि आखिर लड़की हूं लड़ सकती हूं का नारा बुलंद करने वाली प्रियंका गांधी चुप क्यों हैं. चौतरफा दबाव के बाद प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बात कर मामले की जानकारी ली है.

दरअसल भाजपा सवाल उठा रही थी कि प्रियंका ने अलवर पीड़िता से मुलाकात क्यों नहीं की. जिसके बाद प्रियंका (Alwar_Case) ने मुख्यमंत्री गहलोत से पूरे मामले की जानकारी ली है. प्रियंका गांधी ने पीड़िता के पिता से फोन पर बात की. हर संभव सहायता दिलाने का भरोसा दिलाया है. प्रियंका गांधी के फोन के बाद सीएम अशोक गहलोत ने पहली बार अलवर मामले में सोशल मीडिया पर जानकारी दी है.

कांग्रेस नेता धीरज गुर्जर ने कहा कि अलवर में जो घटना घटी है वो नाक़ाबिले बर्दाश्त हैं,पीड़िता के पिता जी से प्रियंका गांधी जी की फ़ोन पर बात हुई है, उन्हें हर तरह से मदद का भरोसा दिलाने के साथ ही किसी भी प्रकार की सहायता के लिये सीधा सम्पर्क करने के लिए कहा है. साथ ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी से भी घटना के बारे में जानकारी लेने के साथ पीड़िता के इलाज,परिवार के ख़्याल और दोषियों पर त्वरित कार्यवाही का आग्रह किया है.

अजमेर दरगाह में बॉलीवुड गाने पर युवती ने किया जिम्नास्टिक, दरगाह कमेटी ने करवाई शिकायत दर्ज

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि अलवर में विमंदित बालिका के प्रकरण के संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, एसपी अलवर व बालिका का इलाज कर रहे वरिष्ठ डॉक्टरों से संपर्क बना हुआ है. डीजी पुलिस को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष अनुसंधान कर शीघ्र मामले की तह तक पहुंचने के निर्देश दिए हैं. अलवर एसपी की सहायता के लिए राज्य स्तर से DIG स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में अनुंसधान हेतु अलग से टीम भेजी गई है. इस प्रकरण में राजनीतिक दलों द्वारा अनर्गल बयानबाजी नहीं की जानी चाहिए. पुलिस को स्वतंत्र रूप से अनुसंधान शीघ्र पूर्ण करने देना चाहिए। अनुंसधान के नतीजे तक पहुंचने के बाद ही टिप्पणी करना न्यायोचित होगा.