शिवराज के मंत्री ने मंहगाई का ठीकरा भोड़ा नेहरू के ऊपर

Shivraj's minister

The Fact India: मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के एक मंत्री (Shivraj’s minister) ने महंगाई की समस्या के लिए देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और 15 अगस्त 1947 को लाल किए से दिए उनके भाषण को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने कहा कि महंगाई की समस्या एक या दो दिन में पैदा नहीं हुई और अर्थव्यवस्था 15 अगस्त 1947 को लाल किए से जवाहरलाल नेहरू के भाषण की गलतियों के साथ नीचे जाने लगी.

नेहरू ने बनाया अर्थव्यवस्था को पंगु

शिवराज सिंह चौहान की सरकार में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Shivraj’s minister) कांग्रेस की ओर से महंगाई और दूसरे मुद्दों पर किए गए प्रदर्शन को लेकर प्रतिक्रिया दे रहे थे. भोपाल में पत्रकारों से बात करते हुए सारंग ने कहा कि आजादी के बाद अर्थव्यवस्था को पंगु बनाकर महंगाई बढ़ाने का श्रेय यदि किसी को जाता है, तो वह है नेहरू परिवार.

मंहगाई एक या दो दिन में नहीं बढ़ती

बीजेपी नेता (Shivraj’s minister) ने कहा कि महंगाई एक या दो दिन में नहीं बढ़ती है. अर्थव्यवस्था की नींव एक या दो दिन में नहीं पड़ती है. देश की अर्थव्यवस्था 15 अगस्त 1947 को लाल किले से जवाहरलाल नेहरू के द्वारा दिए गए भाषण की गलतियों की वजह से बिगड़ने लगी. उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ मोदी सरकार ने पिछले 7 साल में अर्थव्यवस्था को मजबूती दी है.

बीजेपी के शासन में कम हुई मंहगाई

सारंग (Shivraj’s minister) ने आगे कहा कि बीजेपी सरकार ने गरीबों के कल्याण और अर्थव्यवस्था में उनकी सहभागिता के लिए योजनाएं लॉन्च की हैं. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में अर्थव्यवस्था कुछ उद्योगपतियों के हवाले थी. मंत्री ने दावा किया कि बीजेपी के शासन में महंगाई कम है और लोगों की आमदनी बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को 10 जनपथ (पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी का आवास) के सामने प्रदर्शन करना चाहिए.