चर्चित IPS अधिकारी पंकज चौधरी ने आज संभाला अपना पदभार

The Fact india: राजस्थान कैडर के सबसे चर्चित आईपीएस अधिकारी पंकज चौधरी ने आज राजस्थान स्टेट डिजास्टर रेस्पांस फोर्स में बतौर कमांडेंट के पदभार ग्रहण किया. इसके साथ ही पंकज चौधरी ने बटालियन का औपचारिक विज़िट किया. चौधरी को भी सुप्रीम कोर्ट से मुकदमा जीतने के बाद पोस्टिंग मिली है.

2009 बैच के आईपीएस पंकज चौधरी को पिछली वसुंधरा सरकार के समय बर्खास्त कर दिया गया था. हमेशा विवादों में रहने वाले पंकज चौधरी ने अपनी बर्खास्तगी को कैट में चुनौती दी थी. कैट की प्रधान पीठ ने पंकज चौधरी को बहाल करने के आदेश दिए थे. केंद्र सरकार का तर्क था कि बिना तलाक दूसरी शादी करना अखिल भारतीय सेवा आचरण नियम 1968 के नियम 3-1 का उल्लंघन है. इसके बाद चौधरी ने इसे न्यायालय में चुनौती दी थी.

जितिन के भाजपा में शामिल होने से राजस्थान में शुरू हुई बयानबाजी

2009 बैच के IPS पंकज चौधरी को मार्च 2019 को बर्खास्त कर दिया गया था. दिसम्बर 2020 में कैट की प्रधान पीठ ने पंकज चौधरी की बर्खास्तगी का आदेश रद्द कर बहाल करने के आदेश दिए थे. इसके बाद पंकज चौधरी ने राज्य के कार्मिक विभाग, मुख्य सचिव निरंजन आर्य और डीजीपी MLA लाठर के सामने अपना प्रेजेंटेशन भी दिया था.

पंकज चौधरी मूलरूप से यूपी के रहने वाले हैं. चौधरी ने सेवारत रहते हुए राजस्थान के कई जिलों में एसपी के पद पर अपनी सेवाएं दी हैं. सोशल मीडिया पर भी चौधरी चर्चाओं में रहे हैं. बाड़मेर में एसपी रहते हुए वर्ष 2013 में गाजी फकीर की हिस्ट्रशीट वापस खोलकर चौधरी चर्चा में आए थे. गाजी फकीर का हाल ही में निधन हुआ है. उसके बाद चौधरी राजनीति में भी आये थे. उनका राजनीति का छोटा सा सफर भी काफी विवादास्पद रहा था..