वसुंधरा राजे पहले होर्डिंग से हुई गायब अब गुमशुदगी के पोस्टर हुए चस्पा

The Fact India: दिल्ली में गरमाई सियासत के बाद अब राजस्थान में भी बवंडर का रूप लेता दिखाई दे रहा है.. कांग्रेस में विधायक एक गुट से दूसरे गुट में गायब हो रहे हैं तो वहीं भाजपा में कभी होडिंग्स से गायब हो रहे तो गुमशुदगी के पोस्टर (Raje Poster) चस्पा हो रहे हैं. हाल सूबे की दोनों ही पार्टियों के बेहाल है.

दरअसल जहां कांग्रेस की अंदरूनी सियासत एक बार फिर उबाल ले रही रही है तो वहीं भाजपा में आपसी फूट ठंडी होने का नाम नहीं ले रही. पहले राजधानी जयपुर में भाजपा मुख्यालय से सूबे की दो बार मुखिया रही वसुंधरा राजे की तस्वीर गायब हो गई. और अब राजे के क्षेत्र में उनके गुमशुदगी के पोस्टर चस्पा हो गए. अब ये पोस्टर चर्चा का विषय बन गए हैं. इसमें भाजपा की अंदरूनी कलह की बू भी आ रही है. 

चर्चित IPS अधिकारी पंकज चौधरी ने आज संभाला अपना पदभार

चलिए आपको वो पोस्टर भी दिखा देते है कि आखिर उसमें क्या लिखा है. पोस्टरों (Raje Poster) में गुमशुदा की तलाश लिखते हुए वसुन्धरा राजे और दुष्यन्त सिंह की फोटो लगाई गई.. साथ ही पोस्टर में लिखा गया है कि कोरोना जैसी बीमारी में सारे झालावाड़ वासियों को छोड़कर आप कहां चले गए हैं. डरिए मत वापस आ जाइए. लोगों का क्या है. दो चार दिन में फिर भूल जाएंगे, जिससे आप फिर से अपने भ्रष्टाचारी व्यवस्था को आसानी से चला पाएंगे. आपको कोई कुछ नहीं कहेगा.इतना ही नहीं बल्कि इसमें गुमशुदा का पता बताने वाले को आकर्षक इनाम देने की घोषणा की गई है और निवेदक झालावाड़ की परेशान जनता बताया गया है.

इसे लेकर सियासी गलियारे में चर्चाएं इसलिए भी जोर पकड़ रही हैं क्योंकि दो दिनपहले ही  भाजपा के प्रदेश मुख्यालय से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का पोस्टर हटा दिया. जिसके बाद चर्चाओं का दौर निकल पड़ा…हाल ही में लगाए गए पोस्टर में एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और दूसरी तरफ प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया हैं. लेकिन कहीं भी राजे की कोई तस्वीर नहीं है.

जबकि पहले के पोस्टरों में एक तरफ राजे की तस्वीर थी.. जिसमें प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौर की तस्वीरें थीं.. दूसरे पक्ष में पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की तस्वीर पेश की.

इसे लेकर जब सियासी गरमाई तो भाजपा ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व का आदेश था. खैर पहले होडिंग से राजे की तवस्सेर गायब हुई और अब गुमशुदगी के पोस्टर चस्पा होने से सियासत तो गरमा गई है. पार्टी से दूरी बनाते हुए वसुंधरा समर्थक ‘ब्रांड राजे’ का प्रचार कर दूर तलक सन्देश देने में जुटे हुए हैं.