Women’s Hockey Team: सेमीफाइनल में हारी भारत, पदक की उम्मीद अब भी बरकरार

The Fact India: ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम से बेहद उम्मीदे है. इतिहास रचने वाली यह टीम(Women’s Hockey Team) आज सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से हार गई. पर अब भी पदक की उम्मीद बरकरार है. टीम इंडिया (Women’s Hockey Team)अब ब्रिटेन के विरुद्ध ब्रॉन्ज पदक के लिए मैच खेलेगी. अर्जेंटीना ने भारत को 2-1 से हराया है. भारत की ओर से इकलौता गोल गुरजीत ने किया और ये गोल दूसरे ही मिनट में कर दिया था.  इसके बाद अर्जेंटीना की कप्तान मारिया नोएल बारिओनुएवो ने दूसरे और तीसरे क्वार्टर में गोल कर भारतीय टीम पर लीड ली और इसे आखिर तक बनाए रखा.

सविता पूनिया नहीं रोक पाई अर्जेंटीना के अटैक

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत में भारतीय(Women’s Hockey Team) गोलकीपर सविता पूनिया ने बहुत बड़ा रोल प्ले किया था. उन्होंने मैच में नौ बार तयशुदा दिख रहा गोल नहीं होने नहीं दिया. अर्जेंटीना की टीम काउंटर अटैक और दोनों फ्लैंक से हमला करने में माहिर है और उसने ऐसा दिखाया भी. अर्जेंटीना को 6 पेनल्टी कॉर्नर मिले, इसमें से उसने 2 को गोल में कन्वर्ट किया. सविता ये अटैक नहीं रोक पाईं. भारत को पेनल्टी कॉर्नर के 4 मौके मिले और उसने एक को ही गोल में बदला.

Tokyo Olympic: लवलीना ने जीता कांस्य पदक, सेमीफाइनल में तुर्की की मुक्केबाज से हारी

ओलंपिक में ये था भारतीय महिला हॉकी टीम का अब तक का सफर

टोक्यो में महिला टीम का अभियान नीदरलैंड, जर्मनी और गत चैम्पियन ब्रिटेन से लगातार तीन मैचों में हार से शुरू हुआ, लेकिन उसने शानदार वापसी करते हुए अपने से ऊंची रैंकिंग की आयरलैंड को 1-0 से हराने के बाद दक्षिण अफ्रीका को 4-3 से शिकस्त देकर खुद को दौड़ में बनाए रखा. भारत का अंतिम आठ में स्थान ब्रिटेन के पूल-ए के अंतिम मैच में आयरलैंड को 2-0 से हराने के बाद सुनिश्चित हुआ. फिर क्वार्टर फाइनल में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी.