पीएम मोदी के साथ महामंथन में सीएम गहलोत ने बताया सूबे का ये हाल

The Fact India: राजस्थान समेत पूरा देश कोरोना से जूझ रहा है. लिहाजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ महामंथन (Corona Conditions) किया. इस वर्चुअल बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी हिस्सा लिया. साथ ही उन्होंने कोरोना नियंत्रण को लेकर उठाए गए कदमों के बारे में भी जानकारी दी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जानकारी (Corona Conditions) दी कि प्रदेश में 100 फीसदी RTPCR टेस्ट किये जा रहे हैं जो कि विश्वसनीय हैं. कोरोना टेस्ट के लिये प्रतिदिन लिये जाने वाले सैम्पल 18000 से बढ़ाकर 30 हजार को पार कर चुके हैं. कोरोना को फैलने से रोकने के लिये राज्य में पटाखों पर प्रतिबंध, मास्क पर कानून, नाइट कर्फ्यू, लोगों के एकत्रित होने पर लगाम लगाने के लिये धारा-144 और जन आन्दोलन जैसे कदम उठाए गये हैं.

पंचायत चुनाव में नहीं हुई कोरोना प्रोटोकॉल की पालना, खुद सीएम गहलोत ने माना

साथ ही सीएम गहलोत ने अस्पतालों के इंफ्रास्ट्रक्चर की भी जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति की ओर बढ़ रहा है. जरा सी लापरवाही खुद के साथ ही दूसरों के लिये भी जानलेवा हो सकती है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने संक्रमण पर नियंत्रण के लिए जनहित में कड़े फैसले लिए हैं. प्रदेश के आठ जिला मुख्यालयों पर नगरीय क्षेत्र में नाइट कर्फ्यू, शाम 7 बजे बाद बाजार बंद कराने, विवाह समारोह में 100 से अधिक लोगों के इकटठा होने और मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना बढ़ाने जैसे फैसले जीवन की रक्षा के लिए जरूरी हैं.

गौरतलब है कि कोरोना काल के दौरान पीएम मोदी अब तक 8 बार राज्यों के मुख्यमंत्री के साथ मुखातिब हो चुके हैं. ये 9वीं बार है, जब मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक दो चरणों में है. पहला चरण कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित 8 राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल के सीएम से पीएम मोदी बात कर रहे हैं.