Magh Purnima 2021: जानें कब है माघ पूर्णिमा और क्या है इसका महत्व?

Magh Purnima 2021

The Fact India: इस वर्ष 2021 में माघ पूर्णिमा (Magh Purnima 2021) 26 फरवरी दिन शुक्रवार को है। माघ पूर्णिमा के दिन नदी में स्नान करने, दान पुण्य करने का विधान है। ऐसा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। माघ मास की पूर्णिमा तिथि को माघी पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। इस दिन पूर्ण चंद्रमा होता है। माघ पूर्णिमा के दिन व्रत रखा जाता है और श्रीहरि विष्णु की पूजा की जाती है। जागरण अध्यात्म में आज हम आपको माघ पूर्णिमा की तिथि, पूजा मुहूर्त और महत्व के बारे में बता रहे हैं।

माघ पूर्णिमा 2021 की तिथि
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, इस वर्ष माघ मास की पूर्णिमा (Magh Purnima 2021) तिथि का प्रारंभ 26 फरवरी को दोपहर 05 बजकर 49 मिनट से हो रहा है, जो 27 फरवरी दिन शनिवार को दोपहर 01 बजकर 46 मिनट तक है। ऐसे में पूर्णिमा का चांद 26 फरवरी को ही दिखाई देगा, इसलिए माघ पूर्णिमा का व्रत और स्नान दान 26 फरवरी को किया जाएगा।

माघ पूर्णिमा पर स्नान और दान का महत्व
माघ पूर्णिमा (Magh Purnima 2021) के दिन नदियों में स्नान करने और पात्र व्यक्त्यिों को दान करने की परंपरा है। ऐसी मान्यता है कि माघ पूर्णिमा को नदी में स्नान करने से व्यक्ति के सभी पाप कर्म मिट जाते हैं। उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा विधि विधान से करते हैं, उनकी ही कृपा से मोक्ष मिलता है।

माघ पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, पूर्णिमा (Magh Purnima 2021) के दिन चंद्रमा अपनी सभी कलाओं के साथ आसमान में निकलता है। उस दिन पूर्ण चंद्रमा दिखाई देता है। इस बार माघ पूर्णिमा के दिन चंद्रमा का उदय शाम को 06 बजकर 25 मिनट पर होगा। चंद्रमा का अस्त 27 फरवरी को सुबह 06 बजकर 59 मिनट पर होगा।